शनिवार, 5 फ़रवरी 2011

प्यार

   
 मोह के साथ जीना मुश्किल होता है , 
   लेकिन मोह के बगैर भी जीना 
        आसान नहीं होता !

5 टिप्‍पणियां:

Mukesh Kumar Sinha ने कहा…

kya kahne hain.....par ham kaliyug ke niwasi bina moh ke jee hi nahi sakte..:)

sagebob ने कहा…

सच है

कविता रावत ने कहा…

ekdam sahi baat!

Amrita Tanmay ने कहा…

बढ़िया लिखा

Rajesh Kumar 'Nachiketa' ने कहा…

क्या ये विरोधाभास अलंकार है....
मिलो न तुम तो हम घबराएं मिलो तो आँख चुराएं...हमें क्या हो गया है...